Breaking Newsउत्तर प्रदेशमुरादाबादराजनीति

सीएम योगी का मुरादाबाद दौरा : जिले को मिलेगी मेडिकल कालेज और विश्वविद्यालय की सौगात, अफसरों को कसा

CM Yogi's visit to Moradabad: District will get the gift of medical college and university, officers will be tightened

03 सितंबर 22, मुरादाबाद। दिल्ली रोड स्थित सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुबह भाजपा नेताओं और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक के बाद मंडल के आला अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ विकास कार्यों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा की। भाजपा नेताओं द्वारा मेडिकल कालेज और विश्व विद्यालय की स्थापना के मुद्दे को जोरशोर से उठाया है। नेताओं से वार्ता के बाद मुख्यमंत्री के रूख से माना जा रहा है कि जिले को मेडिकल कालेज और विश्वविद्यालय की सौगात मिल सकती है। अफसरों के साथ बैठक में उन्होंने विकास कार्यो में तेजी लाने और कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाने के निर्देश दिए हैं।

मुरादाबाद में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ का स्वागत करते डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह।

सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाएं पात्रों को

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने एमएलसी जयपाल सिंह व्यस्त, विधायक रितेश गुप्ता आदि ने विश्व विद्यालय और मेडिकल कालेज नहीं होने की जानकारी देते हुए इनकी स्थापना कराने की जरूरत बताई है। पता चला है कि जयपाल सिंह व्यस्त ने इस बाबत एक पत्र भी मुख्यमंत्री को सौंपा है। मुख्यमंत्री ने भाजपाइयों से जनता की सेवा करने की बाबत सवाल किया और फिर कहा कि जनसेवा बहुत जरूरी है। केंद्र और प्रदेश की कल्याणकारी नीतियों का लाभ पात्रों को दिलाया जाए। इसके लिए कार्यकर्ताओं को क्षेत्र के लोगों की सहायता करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि आने वाली चुनावों के मद्देनजर जमीनी स्तर पर कार्य किया जाना है। प्रदेशाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह के अलावा प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह, गुलाबो देवी, सांसद जफर इस्लाम, केके मिश्रा, गिरीश भंडूला, पूर्व विेधायक राजेश चुन्नू, धर्मेंद्र नाथ, गोपाल अंजान, डा. विशेष गुप्ता आदि शामिल रहे।

विकास कार्यों में गुणवत्ता और समयबद्धता जरूरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के बैठक में कहा है कि विकास कार्यों को समय सीमा में पूरा किया जाए। योजना में भ्रष्टाचार नहीं होना चाहिए। विकास कार्यों में किसी तरह की कोई लापरवाही नही होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि अफसरान विकास कार्यों की गुणवत्ता को देखें और खराब होने होने पर कार्रवाई अमल में लायी जाए। उन्होंने चेताया कि कभी भी किसी भी कार्य की जांच के आदेश दिए जा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कुछ विभागों के अधिकारियों से यह भी सवाल किए कितनी योजनाओं के तहत कितने गरीबों को अबतक लाभान्वित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने पुलिस के अधिकारियों से कहा कि मंडल में किसी भी सूरत में कानून व्यवस्था बिगड़नी नही चाहिए। असमाजिक तत्वों द्वारा कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ किया जाए तो सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष चौधरी भूपेन्द्र सिंह, एडीजी राजकुमार. डीआईजी शलभ माथुर. मंडलायुक्त अज्जेनय कुमार सिंह. डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह, एसएसपी हेमंत कुटियाल, सांसद डॉ एसटी हसन, महापौर विनोद अग्रवाल, नगर विधायक रितेश गुप्ता, जयपाल सिंह व्यस्त आदि शामिल रहे।

थानों पर शिकायतों का हो तत्काल निस्तारण 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था को लेकर हुई बैठक में मंडल के सभी आला पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं की थानों पर कोई पीड़ित शिकायत लेकर पहुचता है तो उसका तत्काल निस्तारण होना चाहिए। उन्होंने पुलिस के आला अधिकारियों को आगाह करते हुए कहा कुछ पीड़ित इंसाफ के लिए उनके पास भी पहुचते हैं। जिससे यह जाहिर होता हैं उनको इंसाफ नही मिल पा रहा है। मुख्यमंत्री ने पुलिस के अधिकारियों को चेताया है कि इस तरह के हालात बिल्कुल नहीं होने चाहिए। अपराधियों की निगरानी होनी चाहिए और वह जेल के अंदर ही रहें। पुलिस वारदातों की निष्पक्ष जांच करे और असली अपराधी को पकड़े इससे अपराध में कमी आएगी।

इन योजनाओं का करना है लोकार्पण व शिलान्यास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नगर निगम और स्मार्ट सिटी की ग्यारह योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। स्मार्ट सिटी योजना के तहत 4.5 करोड़ की लागत के 18 स्मार्ट शौचालय, 2.2 करोड़ की लागत के 15 वाटर एटीएम, 1.57 करोड़ की लागत के 20 ई-क्योस्क, 39 लाख का सेल्फी पाइंट और 5.90 करोड़ की लागत का ई चार्जिग स्टेशन शामिल है। इसी तरह नगर निगम की 2.16 करोड़ की अटल पथ योजना, 24 लाख का वर्टिकल गार्डन, 25 लवाख का ग्रीन हेरीटेज, 26 लाख के सात ई बस स्टाप, और 1.65 करोड़ के पांच नलकूप शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button