उत्तर प्रदेशमुरादाबादराजनीति

सपा को एक और ­झटका : हाजी इकराम हुए कांग्रेसी, मुरादाबाद देहात सीट से मिला टिकट

Another blow to SP: Haji Ikram became a Congressman, got ticket from Moradabad Dehat seat

26 जनवरी 22, मुरादाबाद। समाजवादी पार्टी का मजबूत स्तंभ हाजी इकराम कुरैशी ने भी सपा को बाय-बाय कर दिया। देहात विधान सभा क्षेत्र से विधायक हाजी इकराम कुरैशी टिकट काटने तथा अपने विरोधी नासिर कुरैशी को दिए जाने से नाराज इकराम कुरैशी ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया। पार्टी हाईकमान ने भी उन्हें देहात विधानसभा से टिकट दे दिया है। हालांकि समाचार लिखे जाने तक इसकी अधिकारिक पुष्टी नहीं हो सकी थी। जिले में सपा को यह दूसरा ­ाटका लगा है, इससे पहले कुंदरकी विधायक हाजी रिजवान बसपा सपा छोड़कर बसपा में शामिल हो चुके हैं और उन्हें भी बसपा ने प्रत्याशी बनाया है।

समर्थक बना रहे थे हाजी पर दबाव

दरअसल, सपा हाईकमान ने तीन सीटों पर टिकटों में बदलाव किया है। मुरादाबाद देहात से विधायक हाजी इकराम कुरैशी की जगह हाजी नासिर कुरैशी को टिकट दिया गया है। इसी तरह कुंदरकी विधानसभा क्षेत्र से विधायक हाजी रिजवान का टिकट काटकर सम्भल सांसद डॉ. बर्क के पौत्र जियाउर्रहमान को टिकट दिया गया है। कांठ सीट पर प्रबल दावेदार पूर्व विधायक अनीसुर्रहमान की जगह पूर्व मंत्री कमाल अख्तर को उतारा है। खास बात यह है कि कांठ और कुंदरकी के प्रत्याशी बाहरी जिलों से लाए गए हैं। सपा का गढ़ माने जाने वाले जिले में हाईकमान के फैसले से जनता हैरान है और कार्यकर्ता परेशान। हाजी इकराम के समर्थक और कार्यकर्ता पिछले चार दिनों से परेशान थे। बीते दिन हुई जनता की अदालत मेंं कई नेताओं की आंख में आंसू थे और नारेबाजी से पूरा इलाका गूंज रहा था। अब देहात विधानसभा क्षेत्र में मुकाबला बेहद रोमांचक हो गया है।

कांठ से इसरार व कुंदरकी से दरक्शां बी कांग्रेस प्रत्याशी

सूत्रों ने बताया कि बुधवार को हाजी इकराम की कांग्रेस आला कमान से विस्तृत वार्ता हो गई थी और उन्हें दिल्ली बुला लिया गया। आधी रात में शहर में तेजी से खबर फैली कि हाजी इकराम को देहात विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने टिकट दे दिया है। पुष्टि के लिए हाजी इकराम से वार्ता की गई, लेकिन वह फोन पर उपलब्ध नहीं हुए। कांग्रेस जिलाध्यक्ष असलम खुर्शीद ने बताया कि उन्हें हाजी इकराम को टिकट दिए जाने की सूचना मिली है, लेकिन रात होने के कारण अभी सूची उन्हें नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस ने कांठ विधानसभा क्षेत्र से हाजी इसरार सैफी को तथा कुंदरकी विधानसभा क्षेत्र से दरक्शां बी को प्रत्याशी घोषित कर दिया है। जानकार मानते हैं कि कांग्रेस ने कांठ में सैफी कार्ड खेलकर क्षेत्र के नाराज सैफी समाज को खुश करने के साथ सपा के वोटों में सेंधमारी की कोशिश की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button